पुस्‍तकें

डॉ. ज़ाकिर अली रजनीश की प्रकाशित पुस्तकें 

* गिनीपिग (वैज्ञानिक उपन्यास, वर्ष–1998)

मानवीय भावों पर केन्द्रित वैज्ञानिक उपन्यास।

* विज्ञान कथाएं (कहानी संग्रह, वर्ष–2000)

संग्रहीत 10 विज्ञान कथाएँ- एक कहानी, जरूरत, परिपथ, चश्म दीद गवाह, और वह जी उठा, विस्फोट, चुनौती, कयामत आने वाली है, उड़ने वाला आदमी एवं निर्णय।
सर्जना पुरस्कार, 2000 (उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान) से पुरस्कृत।

* हिन्‍दी में पटकथा लेखन (वर्ष–2009)

फिल्म एवं टीवी धारावाहिक लेखन पर केन्द्रित शोधपरक पुस्तक।
दिल्ली विश्वविद्यालय के पत्रकारिता पाठ्यक्रम में सहायक संदर्भ सामग्री के रूप में चयनित।

* भारत के महान वैज्ञानिक (वर्ष-2012)

भारत के प्राचीन एवं आधुनिक वैज्ञानिकों की जीवनी एवं वैज्ञानिक उपलब्धियों को रेखांकित करती पुस्तक।

बाल उपन्यास: 

* सात सवाल (वर्ष–1996)

अरब की लोककथाओं के नायक ‘हातिमताई’ के साहसिक कारनामों को वर्तमान परिप्रेक्ष्य से जोड़ता एक रोचक बाल उपन्यास।
दैनिक ‘स्वतंत्र भारत’ (लखनऊ) में धारावाहिक रूप में प्रकाशित।

* हम होंगे कामयाब/मिशन आजादी (वर्ष–2000/2003)

बाल अधिकारों पर केन्द्रित सामाजिक उपन्यास।
’बाल भारती’ (मासिक) में धारावाहिक रूप में प्रकाशित।

* समय के पार (वर्ष–2000)

पर्यावरण पर केन्द्रित वैज्ञानिक उपन्यास ‘समय के पार’, और 8 विज्ञान कथाएं- कम्प्यूटर का कमाल, पौधे की गवाही, मन की उलझन, कहानी लेखन यंत्र, खतरनाक चेहरा, क्लोन का भूत, देश की खातिर एवं ऐ रोबो।
भारतेन्दु हरिश्चन्द्र पुरस्कार, 1997 (भारत सरकार), सर्जना पुरस्कार, 2000 (उ0 प्र0 हिन्दी संस्थान) एवं रत्नलाल शर्मा स्मृति बाल साहित्य पुरस्कार, 2001 से पुरस्कृत।

* ह्यूमन ट्रांसमिशन (वर्ष–2017)

वैज्ञानिक बाल उपन्यास 'ह्यूमन ट्रांसमिशन' (बालवाणी, मासिक, लखनऊ में धारावाहिक रूप में प्रकाशित) एवं 9 विज्ञान कथाएं- मुकाबला, पौधे की गवाही, अन्‍तर्यामी, इससे तो अच्‍छा, मैंने लिखी कहानी, पीपल वाला भूत, मेरा क्‍लोन बना दो, देश की खातिर।

बाल कहानी संग्रह: 

* मैं स्कूल जाऊंगी (वर्ष–1996)

बाल मनोविज्ञान पर आधारित छः कहानियाँ- मैं स्कूल जाऊंगी, गपशप, इससे तो अच्छा, अनोखा उपहार, गोलू और गुलाब एवं टी फॉर टीचर।
मधुरश्री स्मृति पुरस्कार, 1997 (नागरी बाल साहित्य संस्थान, बलिया, उ0प्र0) से पुरस्कृत।

* सपनों का गांव (वर्ष–1999)

पर्यावरण पर केन्द्रित छः कहानियां- प्रहरी, अनोखा उपहार, वृक्ष बाबा, परी का वादा, हरा सोना एवं सपनों का गांव।

* चमत्कार (वर्ष–1999)

छः विज्ञान कथाएं- चमत्कार, छोटी सी बात चाकलेट चोर, छोटा सा स्वप्न, ढ़ोगी महात्मा एवं सपनों का राजा।
सर्जना पुरस्कार-1999 (उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान) से पुरस्कृत।

* हाजिर जवाब (हास्य कहानियां, वर्ष–2000)

छः हास्य कहानियां- कहां गये रूपये?, अप्रैल फूल, अजय बना टीचर, वाह रे शहर, मुच्छन पहलवान एवं हाजिरजवाब।

* कुर्बानी का कर्ज (वर्ष–2000)

छः रोमांचक कहानियां- मौत के मुंह में, कंकाल का रहस्य, विश्वा)स के सहारे, ज्योतिष का चक्कर, ताजमहल के ठेकेदार एवं कुर्बानी का कर्ज।

* सोने की घाटी (वर्ष–2000)

आठ रोमांचक कहानियां- सोने की घाटी, गुप्त दस्तावेज, पकड़े गये लुटेरे, ज्योतिश का चक्कर, नींबू का कमाल, गुब्बारे के सहारे, लगन हो तो एवं कंकाल का रहस्य।

* सोने की घाटी (वर्ष–2006)

वैज्ञानिक पृष्ठभूमि पर रची गयी 19 कथाएं- रूबी का रोबोट, समय के साथ, मौत हार गई, नींबू का कमाल, नेमो मेरा नौकर, छोटी सी बात, अपना-अपना फर्ज, ढ़ोंगी महात्मा, इससे तो अच्छा, मदद करो कम्प्यूटर, मेरा क्लोन बना दो, पीली दुनिया, सपनों का राजा, सुपर मैन, चॉकलेट चोर, रूपदायी कम्प्यूटर, चमत्कार को नमस्कार, गुलामों की नगरी, एवं अंतरिक्ष में स्टेशन।


* ऐतिहासिक कथाएं (वर्ष–2006)

ऐतिहासिक घटनाओं पर आधारित 19 कथाएं- आन की खातिर, अक्ल बड़ी या.., अनजाना मेहमान, बहन की पुकार, झोपड़ी और मंदिर, धूर्त वास्यकार, फैसले की घड़ी, गोह गाथा, काजी का इंसाफ, केसर की चाह, मुंहमांगा पुरस्कार, नूरजहां का निशाना, पानी का बुलबुला, रणथम्भौर का किला, शादी का टीका, शेर और सिंह, अंगूठी का चोर, चक्कू की धार एवं अवध की बेगम।

साहसिक कहानियां (वर्ष–2008)

साहसपरक 15 कहानियां- याद रहेगी कुर्बानी, विश्वामस के सहारे, तेल की गंध, ताजमहल का ठेका, साहस की बात, नर-कंकाल, जिंदगी की वापसी, नन्हां सिपाही, ज्यातिष बाबा, आजादी की लडाई, इतिहास की चुनौती, इंका का खजाना, बैंक के लुटेरे, पीपल वाला भूत एवं आदमखोर बाघिन।

ज़ाकिर अली 'रजनीश' की श्रेष्‍ठ बाल कथाएं (वर्ष–2008)

प्रतिनिधि 21 कहानियां- सुम्मी का सपना, बेबी माने अप्पी, रूबी का रोबोट, अनजाना चेहरा, सबसे बड़ा पुरस्कार, सपनों का गांव, सपनों का राजा, आत्मविश्वािस की परीक्षा, दोस्त का कर्ज, मैं आजाद हूं, रिश्ते की परिभाषा, टी फॉर टीचर, उम्मीद के पौधे, चाकलेट चोर, मनसुखा की सीख, बातों के बताशे, देश की खातिर, मदद करो कम्प्यूटर, रंगों का जादू एवं सुपरमैन।

* मेरी प्रिय सामाजिक बाल कथाएं (वर्ष–2009)

21 सामाजिक कहानियां- सुम्मी का सपना, बेबी माने अप्पी, रूबी का रोबोट, अनजाना चेहरा, सबसे बड़ा पुरस्कार, सपनों का गांव, सपनों का राजा, आत्मविश्वािस की परीक्षा, दोस्त का कर्ज, मैं आजाद हूं, रिश्ते की परिभाषा, टी फॉर टीचर, उम्मीद के पौधे, चाकलेट चोर, मनसुखा की सीख, बातों के बताशे, देश की खातिर, मदद करो कम्प्यूटर, रंगों का जादू एवं सुपरमैन।

* मनोवैज्ञानिक बाल कहानियां (वर्ष–2009)

बाल मनोविज्ञान केन्द्रित 24 कहानियां- अंजुम और टीचर, अनोखा उपहार, अपना फर्ज, असली पुरस्कार, बातों के बताशे, छोटी सी सीख, दोस्ती का कर्ज, गोलू का प्रसाद, गुलाब का फूल, मैं आजाद हूं, मीठे आम, परी का वादा, सपनों की दोस्त, स्कूल का पहला दिन, बच्चों का मनोविज्ञान, स्नेह का बंधन, सुम्मी का सपना, सुनहरा अवसर, अजय बना टीचर, दोष किसका, हिमी की कुर्बानी, घोंसला, मां की सीख, वृक्ष बाबा।

* प्रेरक बाल कथाएं (वर्ष–2009)

21 लोककथात्‍मक कहानियां- आसमानी भाषा, अग्‍गन-भग्‍गन, अनोखी परीक्षा, बोया पेड़ बबूल का, चालाक कालू, चिडिया चुग गयी खेत, सियार को मिला सबक, घमंडी गिरगिट, असंभव को संभव बनाया, हरा सोना, जैसे को तैसा, जमींदार का भूत, करूणा की देवी, कोयल हो गई काली, लुटेरें की बस्‍ती, सरपंच का फैसला, बड़ा कौन, पहेली।

* मेरी प्रिय सामाजिक बाल कथाएं (वर्ष–2013)

यथार्थपरक 21 कहानियां- आज नहीं तो कल, अपना-अपना मोल, आजादी का सुख, अपना गांव, अप्रैल फूल, बहन का प्यार, कायाकल्प, बैजू बाबा, हीरे का मोल, कुलसुम आपा, आर्डर-आर्डर, रंगों का जादू, रेगिस्तान का अजूबा, रूपयों की खोज, सिद्ध पुरूष, थोड़ी सी खुशी, उम्मीद के पौधे, बकरी का भूत, दूसरा भाई, वाह रे शहर। भारतीय गौरव की कहानियां (वर्ष–2013)

* भारतीय गौरव की कहानियां (वर्ष–2013)

ऐतिहासिक गौरव की 12 कहानियां- अनूठी मिसाल, चक्रवर्ती सम्राट, दिल्ली दूर है, गढ़ आला पण सिंह गेला, हमदर्द, हरावल का नायक, हरदौल का चबूतरा, होनी-अनहोनी, झाला का बलिदान, झूठा दंभ, झोपड़ी की कीमत, रूस्तम-ए-हिंद।

* गणित का जादू (2017)

गणित का जादू विज्ञान कथा परक 10 कहानियां- पेरी ज़ेड सिग्मा, ब्रेकिंग न्यूज, पानी वाले बाबा, अधूरा प्रयोग, मौत से टक्कर, अलौकिक शक्ति, इच्छाधारी कम्प्यूटर, मुकाबला, उड़ने वाला आदमी, गणित का जादू।

अंग्रेजी में प्रकाशित पुस्‍तकें: 

Best of Hi-tech Tales (विज्ञान कथाएं, वर्ष–2006)
Best of Historical Tales (ऐतिहासिक कहानियां, वर्ष–2006)
Best of Adventures Tales (साहसिक कहानियां, वर्ष–2008)
Best of Children Social Tales (सामाजिक कहानियां, वर्ष–2009)
Best of Psychological Tales (मनोवैज्ञानिक कहानियां, वर्ष–2009)
Best of Motivation Tales (प्रेरक कहानियां वर्ष–2009)

ऐतिहासिक परिचय माला:

ऐतिहासिक श्रंखला के अन्तर्गत विविध विषयों पर बीस पुस्तकें प्रकाशित (वर्ष–2000)- ऐतिहासिक विचार, ऐतिहासिक लेखक, ऐतिहासिक कवि, ऐतिहासिक तिथियां, ऐतिहासिक नगर, ऐतिहासिक वाद्ययंत्र, ऐतिहासिक पुरूष, ऐतिहासिक महिलाएं, ऐतिहासिक योद्धा, ऐतिहासिक शासक, ऐतिहासिक इमारतें, ऐतिहासिक नदियां, ऐतिहासिक गुरू, ऐतिहासिक ऋषि, ऐतिहासिक ज्ञानी, ऐतिहासिक शिष्यं, ऐतिहासिक भक्त, ऐतिहासिक मंदिर, ऐतिहासिक तीर्थ स्थल, ऐतिहासिक धर्मग्रन्थ।

नवसाक्षर साहित्य: 

सराय का भूत (लोक कथा, वर्ष–2000)
अग्गन-भग्गन (लोक कथा, वर्ष–2000)
भय का भूत (अंधविश्वास पर केन्द्रित, वर्ष–2000)
मेरी अच्छी बहू (पारिवारिक सामंजस्य पर केन्द्रित, वर्ष–2000)
थोडी सी मुस्कान (परिवार नियोजन पर केन्द्रित, वर्ष–2000)
असंयम का फल (एड्स पर केन्द्रित, वर्ष–2000)
सुनहरा पंख (उक्रेन की लोक कथाएं, वर्ष–2000)
सितारों की भाषा (अरब की लोक कथाएं, वर्ष–2005)

सम्पादित पुस्तकें: 

* इक्कीसवीं सदी की बाल कहानियां (वर्ष–1998)

समकालीन हिन्दी बाल कहानियों का प्रतिनिधि संकलन। 2 खण्‍डों में 107 कहानियां संकलित।

* एक सौ इक्यावन बाल कविताएं (वर्ष–2003)

58 हिन्दी बाल कवियों की 151 कविताओं का प्रतिनिधि संकलन।

* तीस बाल नाटक (वर्ष–2003)

तीस नाटककारों के प्रतिनिधि नाटकों का संग्रह।

* प्रतिनिधि बाल विज्ञान कथाएं (वर्ष–2003)

31 रचनाकारों की प्रतिनिधि विज्ञान कथाओं का संकलन।

* ग्यारह बाल उपन्यास (वर्ष–2006)

11 बाल उपन्यासकारों (डा0 श्रीप्रसाद, जाकिर अली ‘रजनीश’, रामनरेश उज्जवल, रमाशंकर, मो0 साजिद खान, उषा यादव, शोभनाथ लाल, साबिर हुसैन, रोहिताश्‍व अस्थाना, संजीव जायसवाल ‘संजय’ एवं अखिलेश श्रीवास्तव ‘चमन’) की प्रतिनिधि रचनाओं का संकलन।

* अनन्‍त कुशवाहा की श्रेष्‍ठ बाल कथाएँ (वर्ष–2008)

लम्बी समालोचनात्मक भूमिका के साथ अनन्त कुशवाहा की प्रतिनिधि 19 बाल कहानियों का संकलन।

* यादराम रसेन्‍द्र की श्रेष्‍ठ बाल कथाएँ (वर्ष–2008)

लम्बी समालोचनात्मक भूमिका के साथ यादराम रसेन्द्र की प्रतिनिधि 20 बाल कहानियों का संकलन।

* उषा यादव की श्रेष्‍ठ बाल कथाएँ (वर्ष–2012)

लम्बी समालोचनात्मक भूमिका के साथ उषा यादव की प्रतिनिधि 21 बाल कहानियों का संकलन।

* मो. अरशद खान की श्रेष्‍ठ बाल कथाएँ (वर्ष–2012)

लम्बी समालोचनात्मक भूमिका के साथ मो. अरशद खान की प्रतिनिधि 20 बाल कहानियों का संकलन।